अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड समेत 4 कंपनियां दावेदार, जल्द पता चलेगा किसे मिला ठेका

Jewar International Airport News

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की तकनीकी बिड में चारों कंपनियां सफल घोषित हुई हैं। प्रदेश की परियोजना निगरानी एवं क्रियान्वयन समिति (पीएमआइसी) की बुधवार को लखनऊ में हुई बैठक में चारों कंपनियों को सफल घोषित किया गया है। अब इन चारों कंपनियों की फाइनेंशियल बिड 29 नवंबर को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (नियाल) के ग्रेटर नोएडा कार्यालय में खोली जाएगी।

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की तकनीकी बिड छह नवंबर को खोली गई थी। एयरपोर्ट के लिए दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड, ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी, अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड व एंकरेज इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट्स होल्डिंग लिमिटेड ने बिड डाली है। चारों कंपनियों को तकनीकी बिड में सफल घोषित किया गया है।

लखनऊ में बुधवार को प्रदेश के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में पीएमआइसी की बैठक हुई। बैठक में चारों कंपनियों को बिड की तय शर्तों पर खरा पाया गया। इस बैठक में नियाल के अधिकारी भी मौजूद थे। चारों कंपनियों को 29 नवंबर को खुलने वाली फाइनेंशियल बिड में शामिल होने का मौका मिलेगा। फाइनेंशियल बिड ग्रेटर नोएडा स्थित नियाल कार्यालय में दोपहर बाद तीन बजे खोली जाएगी। एयरपोर्ट के लिए कंपनी चयन की प्रमुख शर्त अधिकतम राजस्व देना है।

जो कंपनी प्रति यात्री अधिकतम राजस्व देगी, उसे एयरपोर्ट के निर्माण एवं संचालन की जिम्मेदारी मिलेगी। कंपनी पीपीपी मॉडल पर एयरपोर्ट का निर्माण कर करीब चालीस साल तक इसका संचालन करेगी। एयरपोर्ट से हवाई सेवाओं की शुरुआत 2022-23 से करने की योजना है।

शैलेंद्र भाटिया (नोडल अफसर नियाल) के मुताबिक,जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की तकनीकी बिड में चारों कंपनियों को सफल घोषित किया गया है। चारों कंपनियों की फाइनेंशियल बिड 29 नंवबर को खोली जाएगी।

बता दें कि जेवर इंटरनेशनल एयर पोर्ट देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इतना ही नहीं, प्रस्तावित एयरपोर्ट को दुनिया का चौथा एयरपोर्ट बताया जा रहा है।

Courtesy: jagran.com